Home EDUCATION NEWS मणिपुर की २९ लड़कियों की पढाई का खर्च उठाएंगे कर्णाटक के मिनिस्टर |

मणिपुर की २९ लड़कियों की पढाई का खर्च उठाएंगे कर्णाटक के मिनिस्टर |

0

कर्नाटक के आवास और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री

, बीजेड ज़मीर अहमद खान ने मंगलवार को विस्थापित बच्चों के साथ अपना जन्मदिन मनाते हुए मणिपुर की 29 लड़कियों की शिक्षा लागत और कल्याण का वहन करने का वादा किया, जो बेंगलुरु चली गई हैं।

समीर जी ने अपना ५७ जन्मदिन मणिपुर की लड़कियों के साथ बिताया जहा वो अपनी कंसिस्टेंसी को रिप्रेजेंट करते है  उनके कार्यालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, मंत्री ने घोषणा की कि वह उन छात्रों की शिक्षा और कल्याण का खर्च उठाएंगे और 2 लाख रुपये की वित्तीय मदद की घोषणा की।

उच्च नियालय के आदेश के खिलाफ कुकी और नागा समुदाय ने प्रदर्शन के बाद मणिपुर में तीन दिन से हिंसा देखि जा रही है जनजाति (एसटी) की श्रेणी में मैतेई समुदाय को शामिल करने पर विचार करने के लिए कहा गया है। पहाड़ी इलाकों में सिर्फ एसटी ही जमीन खरीद सकते हैं.

इंफाल घाटी के आसपास के इलाकों में रहने वाले बहुसन्ख्यक मोटाई समुदाय  बढाती आबादी और ज़मीं की बढ़ती आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए अस टी दर्जे की मांग कि है ताकि वह पहाड़ी इलाकों में ज़मीं खरीद कर सके

कर्नाटक के मंत्री ने मणिपुर की 29 छात्राओं की शिक्षा का खर्च वहन करने का वादा किया – द न्यूज मिल

 

ज़मीर अहमद खान ने छात्रों से बातचीत की और मणिपुर में मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी एकत्र की। विस्थापित छात्रों ने बताया कि वे अपने गृह राज्य में खतरनाक स्थिति को देखते हुए बेंगलुरु आए हैं, और उन्होंने उन्हें आश्रय देने के लिए सेंट टेरेसा शिक्षा संस्थानों को भी धन्यवाद दिया। छात्रों को अपनी शिक्षा पूरी करने के लिए काम से काम सात साल तक यहाँ रहना होगा और मंत्री ने पूरी अवधि के लिए शिक्षा और उनके कल्याण की लागत वाहनं करने का  वडा किया है कल्याण मंत्री ज़मीर अहमद खान के कार्यालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है।

कर्नाटक के मंत्री ने मणिपुर की 29 छात्राओं की शिक्षा का खर्च वहन करने का वादा किया 

 

उन्होंने कहा, ”छात्र यहां बहुत सुरक्षित हैं और वे जो भी चाहेंगे, वह उसकी व्यवस्था करेंगे। बाद में, उन्होंने संस्थान में मणिपुर के उन छात्रों के साथ नाश्ता किया और संस्थान में पढ़ रहे अन्य 250 छात्रों के लिए रात के खाने की भी व्यवस्था की। संस्थान के कर्मचारी एवं शिक्षक उपस्थित थे।

मणिपुर से बेंगलुरु में 200 से अधिक छात्र आए हैं, जिनमें से 29 छात्रों ने इस संस्थान में शरण ली है और अन्य को अन्य संस्थानों में ठहराया गया है।

https://hopeeducationsnews.com/wp-admin/post-new.php

https://www.google.com/search?q=karnataka+minister+help+manipur+state&source=lmns&bih=651&biw=1366&rlz=1C1RXQR_enIN1015IN1015&hl=en&sa=X&ved=2ahUKEwiKqb31ur6AAxUnzaACHT16AgsQ0pQJKAB6BAgBEAI

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here